What is k 12 education system? k-12 education in India?

What is k-12 education system in India, Companies in India? Are k-12 education expenses deductible?: तरक्की के इस बढ़ते दौर में व्यक्ति हर क्षेत्र में दिन-प्रतिदिन आगे की ओर बढ़ता जा रहा है। अतः उस क्षेत्र को बेहतर ढंग से मज़बूत करने के लिए नए- नए तरीका का उपयोग कर क्षेत्र में तरक्की तथा उसका ढांचा मजबूत करना चाहता है। इसी कारण भारत सरकार द्वारा शिक्षा के क्षेत्र में भी बुनियादी ढांचे को मजबूत तथा शिक्षा प्रणाली को मजबूत करने के लिए K-12 प्रणाली जारी किया गया है। इस आर्टिकल में हम आपको से संबंधित सभी जानकारी जैसे- what is k-12 education?, k-12 education system? ,k-12 education in india? Are k-12 education expenses deductible आदि देने वाले हैं अतः आपसे अनुरोध है कि हमारे इस आर्टिकल को पूरा पढ़े हैं।

What is k-12 education system in India, Companies in India? Are k-12 education expenses deductible?

What is k-12 education?

जैसे कि आप सभी जानते हैं कि हम आज तकनीक के साथ मिलकर किसी भी छेत्र को आसानी से बढ़ा सकते हैं तथा साथ-साथ खुद को उस छेत्र में स्टेबल भी कर सकते हैं। इसी सोच के साथ शिक्षा क्षेत्र को K -12 के दुवारा तकनीकी से जोड़ शिक्षकों तथा छात्रों को को बेहतर तरीके से शिक्षा लेने तथा देने के प्रयास को बढ़ावा दिया गया है। K-12 प्रणाली के माध्यम से ई -लर्निंग प्लेटफार्म द्वारा भी शिक्षा दी जाएगी।

ये भी पढ़े – Forgot Facebook Password and Email, How to Reset

इस प्रणाली अथार्त इस सिस्टम के अंदर प्राथमिक तथा माध्यमिक दोनों समूह को सामूहिक रूप से एक ही के K -12 शिक्षा के रूप में ही जाना जाता है। जिसके अंतर्गत ना केवल भारत के साथ-साथ अन्य देशों के भी शिक्षक अथवा छात्र भी संचार के माध्यम से शामिल होते हैं। इस शैक्षिक K -12 मॉडल के अंतर्गत K अक्षर का अर्थ है – किंडर गार्डन तथा 12 का अर्थ है, 12 साल की बुनियादी शिक्षा अथार्त जिसके अंतर्गत 6 साल की प्रारंभिक शिक्षा 4 साल जूनियर हाईस्कूल और 2 साल सीनियर हाई स्कूल की शिक्षा सम्मिलित है।

k-12 education system?

पहले की शिक्षा प्रणाली के अंतर्गत छात्र को बुनियादी ढांचा तैयार करने के लिए केवल 10 वर्ष का समय दिया जाता था जिस कारण छात्र अपनी क्षमताओं में निपुण नहीं हो पाता था किसी समस्या का समाधान करने के लिए केवल शिक्षा प्रणाली के अंतर्गत 12 साल का कार्यक्रम चलाया गया है जिसके माध्यम से छात्रों को कौशल में महारत हासिल करने और बुनियादी दक्षताओं को अवशोषित करने के लिए पर्याप्त समय देता है।

ये भी पढ़े – Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana (PMFBY) प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना: ऑनलाइन फॉर्म

इस प्रणाली के माध्यम से छात्र 18 वर्ष तक की आयु में स्नातक होकर बहुत जल्द उम्र की सीमा में रोजगार आदि पा सकते हैं, साथ ही माध्यमिक स्तर के कौशल विकास शिक्षा के लिए भी तैयार हो जायेगे। इस प्रणाली के माध्यम से छात्रों को तीन प्रकार से आधारित किया जायेगा एकेडमिक, तकनीकी व्यवसायिक जीविका और खेल और कला आदि के बीच चयन करना होगा। जिसके माध्यम से आसानी से एक ट्रैक पर चलकर उस मैं अपनी कुशताओं को आसानी से निपुण कर सकते हैं। इसके साथ साथ ही इस प्रणाली के अंतर्गत 5 साल के बच्चों के लिए किंडर गार्डन अनिवार्य है केवल कार्यक्रम में न केवल एक देश अपितु अन्य देशों के छात्र शिक्षक भी शामिल होंगे।

k-12 education in India?

जैसे कि आप सभी जानते हैं पूरे भारतवर्ष में अलग अलग बोर्ड से मान्यता प्राप्त स्कूल है, जो कि निजी तथा सरकारी दोनों स्तर पर संचालित हैं। यह सभी स्कूल अलग-अलग बोर्ड से मान्यता प्राप्त है। जिसके अनुसार इन सभी स्कूल में शिक्षा प्रणाली भी अलग है। परंतु के-12 प्रणाली के माध्यम से भारत के सभी निजी तथा सरकारी स्कूलों में K -12 प्रणाली को अनिवार्य कर दिया गया है। इस प्रणाली के माध्यम से ई-लर्निंग शिक्षा को भी प्रोत्साहित किया गया है। जिसके माध्यम से छात्र ना केवल भारत में ही वरन देशों में भी शिक्षकों के साथ बातचीत कर सकता है। जिसके माध्यम से भारत के छात्रों का आत्मनिर्भर स्तर बढ़ेगा तथा साथ ही शिक्षक छात्र संदराव भी होंगे। k-12 education companies in india?

Are k-12 education expenses deductible?

आप सभी जानते हैं कि आज के इस पर महंगाई के दौर में शिक्षा प्राप्त करना बहुत मुश्किल हो चुका है। माध्यमिक स्तर के छात्रों को शिक्षा प्राप्त करने के लिए बहुत सी समस्याओं का सामना करना पड़ता है। इसी प्रकार के-12 प्रणाली इ- लर्निंग प्लेटफॉर्म के माध्यम से दी जाने वाली शिक्षा प्रणाली रहेगी। जो न केवल भारत के शिक्षकों छात्रों द्वारा वरन छात्र अन्य देशों के शिक्षकों तथा छात्रों से भी किसी ने किसी प्रकार से जुड़ा होगा। 

ये भी पढ़े – Top Best Android Photo Editing Apps | बेस्ट फोटो एडिटिंग Android Apps

इसी प्रकार यह प्रणाली थोड़ी अधिक महँगी है। परंतु भारत में राज्य सरकार केंद्र सरकार द्वारा थोड़ी कमी की गई है ,आसानी से कह सकते हैं कि हम इस प्रणाली के खर्चे में कमी ला सकते हैं जो कि सरकार द्वारा दिया गया छात्रों के लिए एक प्रकार का सराहनीय कार्य है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *